Announcements

“आर्ट ऑफ इंटरनेशनललिस्म” का परिचय

प्रोग्रेसिव इंटरनेशनल प्रस्तुत करता है अपना कला मंच - “आर्ट ऑफ इंटरनेशनलिस्म”
प्रग्रेसिव इंटरनेशनल का मंच, “आर्ट ऑफ इंटरनेशनलिस्म”, अंतर्राष्ट्रीयता की कला, कल्पना और 21 वीं सदी की अंतरराष्ट्रीयता को आकार देने में कला और संस्कृति की भूमिका की पड़ताल करता है ।
प्रग्रेसिव इंटरनेशनल का मंच, “आर्ट ऑफ इंटरनेशनलिस्म”, अंतर्राष्ट्रीयता की कला, कल्पना और 21 वीं सदी की अंतरराष्ट्रीयता को आकार देने में कला और संस्कृति की भूमिका की पड़ताल करता है ।

निम्नलिखित पाठ को दुनिया भर के विभिन्न कलाकारों और सांस्कृतिक कार्यकर्ताओं द्वारा सह-लिखित और समर्थित है, जिनमें से प्रत्येक ने अंतरराष्ट्रीय संघर्ष में कला और संस्कृति की सांस्कृतिक विरासत और समकालीन महत्व में कार्य किया है।

अतीत, भविष्य, कला और बीच में हम

अंतर्राष्ट्रीयता की कला दुनिया की एक जगह-आधारित समझ से बनता है, जिसकी जड़ें “स्थित” इतिहास में निहित हैं; हमारे समुदायों और भूमि में निहित है, और समानता और सामाजिक न्याय के लिए हमारे साझा संघर्षों में निहित है । भौगोलिक क्षेत्रों में परिचित रूप से जुड़ा हुआ है । अंतर्राष्ट्रीयता की कला, अंतरराष्ट्रीय एकजुटता के आयोजन के साथ-साथ अंतरराष्ट्रवादी कला और संस्कृति की महत्वपूर्ण भूमिका पर ज़ोर देती है, जो हमारे साझा संघर्षों और इच्छाओं को आकार देने में मदद करती है।

अंतर्राष्ट्रीयता - इतिहास में और आज भी- साझा शासन और देखभाल के तहत साझा स्वामित्व के रूप में कला और संस्कृति का बचाव करती है, क्योंकि यह समानता और सामाजिक न्याय की हमारी सामूहिक कल्पना में योगदान देती है। दुनिया को बदलने के लिए, परिवर्तन के कल्पना की जरूरत है जिसे रूप, स्पर्श, ध्वनि, स्वाद और समय दिया जाना अभी बाकी है। अंतरराष्ट्रवादी कला और संस्कृति, जीवन के समतावादी रूपों को सुनिश्चित करने के लिए, भौतिक परिवर्तन की इच्छा को भड़काती है। यह सांस्कृतिक, आर्थिक और राजनीतिक बदलाव का हिस्सा है जिसकी दुनिया को सख्त जरूरत है ।

भूमंडलीकृत पूंजीवाद की प्रणाली में, सबसे अधिक दिखाई देने वाली कलाकृतियां स्टॉक या संपत्ति में बदल गई हैं और सबसे व्यावसायिक रूप से सफल कलाकार कंपनियां बन गए हैं। ऊपरी पायदान के एक प्रतिशत के लिए, “कला” आकर्षक कर लाभ से संलग्न एक विश्वसनीय निवेश का अवसर बन गया है । हम, आम लोगों के रूप में, नाममात्र सार्वजनिक संग्रहालयों और दीर्घाओं में इन कलाकृतियों में से कुछ को केवल देख भर सकते हैं; हम में से अधिकांश काफी हद तक अमीरों के निजी महलों में टंगी “मुक्त कला” से बेदखल कर दिए गए हैं ।

एक प्रतिशत के दसवें हिस्से मात्र की संचित कला और संस्कृति उनकी दुनिया का हिस्सा है, हमारी नहीं । हम जिस दुनिया की कला और संस्कृति चाहते हैं, वह अंतरराष्ट्रवादी, लोकप्रिय और सांप्रदायिक है । यह हमारे सामाजिक आंदोलनों की भौतिक संस्कृति है, सत्ता विरोधी भाषा है जो हमें एक साथ एक अग्रहकारी, बहुलवादी “हम” के रूप में रखती है। यह कला है जो हमारे साझा संघर्षों में एकजुटता और लोकप्रिय शक्ति को आकार देता है । सिर्फ पुष्टि करने के लिए नहीं - कि हम कौन हैं, बल्कि उन समुदायों की कल्पना करने के लिए जो हम अभी तक नहीं बन पाए हैं - विकासशील समाज।

अंतरराष्ट्रवादी कला और संस्कृति ,अंतरराष्ट्रवादी संघर्षों के माध्यम से उभर रही है, जिनमें से प्रत्येक, किसी एक स्थान और समय के लिए विशिष्ट हैं। इन आंदोलनों में से प्रत्येक में, कलाकार और सांस्कृतिक कार्यकर्ता हमारे समाजों के परिवर्तन की कल्पना करने में मदद करने के लिए एक भूमिका निभाते हैं, चाहे वे स्वदेशी आत्मनिर्णय से हों या समाजवादी क्रांति से, औपनिवेशिक विद्रोह, नागरिक अधिकार और ब्लैक लिबरैशन, कामकाजी वर्ग संघीकरण, फासीवाद विरोधी, नस्लवाद विरोधी और साम्राज्यवाद विरोधी प्रतिरोध, नारीवाद, LGBTQIA + आंदोलनों, राज्यविहीन राष्ट्रों, अप्रलेखित प्रवासियों और शरणार्थियों संगठनों, विकलांगता अधिकारों या फिर जलवायु न्याय से संबंधित हों । जबकि इन संघर्षों में से प्रत्येक अपने संदर्भ के लिए विशेष है, उनमें से किसी एक के माध्यम से प्राप्त एक विशिष्ट परिवर्तन एक साथ दुनिया के लिए एक परिवर्तन है।

कला और संस्कृति हमेशा अतीत और वर्तमान के अन्याय को सामने लाने लिए लोकप्रिय प्रयासों का हिस्सा रहा है और इसी से नए वायदे भी आकार लेते हैं । यह कट्टरपंथी कलात्मक और सांस्कृतिक कल्पना की ट्रजेक्टरी है जिसके लिए “आर्ट ऑफ इनर्नैशनलिज़म” एक मंच, एक कला का गठबंधन है; इसके माध्यम से हम अंतरराष्ट्रवादी कला की अपनी धारणाओं के साथ-साथ कला निर्माण, सांस्कृतिक वितरण और उदार आदान-प्रदान के लिए अपने बुनियादी ढांचे बनाने का लक्ष्य रखते हैं।

अन्याय को उजागर करने और एक नई दुनिया की कल्पना करने की क्षमता हम में से हर एक के अंतर्गत निहित है । यह हमारे वास्तविकताओं के साथ संबंधित, महत्वपूर्ण संबंधों की हमारी भावना को योगदान देता है और मजबूत करता है, जबकि दुनिया भर के समुदायों को साझा उद्देश्य में जोड़ता है । अंतरराष्ट्रवादी कला और संस्कृति न केवल हमारे अतीत और वर्तमान में इस जवाबी शक्ति को आकार देने में योगदान देते हैं, बल्कि हमें उन समुदायों की कल्पना करने में भी मदद करते हैं जो हम अभी तक बन नहीं पाए हैं - अंतरराष्ट्रीय, स्थलीय, महानगरीय एकजुटता की कई दुनिया को एक साथ लाकर बन रहे हैं, जो हम एक साथ बनाते हैं ।

अभ्यास में आर्ट ऑफ इंटरनेशनलिस्म

हम आर्ट ऑफ इंटरनेशनलिस्म के मंच के लिए निम्नलिखित लक्ष्य रखते हैं :

1. कला सांप्रदायिक बनाओ

कल्पना सभी में निहित है। कलाकार और सांस्कृतिक कार्यकर्ता, विशिष्ट दक्षता रखते हैं जिन्हे मान्यता मिलनी चाहिए; कला, संगीत और थिएटर बनाने की खुशी और मुक्ति का अनुभव हर किसी के लिए सुलभ होना चाहिए । अधिकांश लोगों के लिए आम कलात्मक और सांस्कृतिक विरासत तक पहुंचने के साथ-साथ इसके निर्माण में हिस्सा लेने में आने वाली किसी भी तरह की बाधाओं को दूर करना महत्वपूर्ण है, क्योंकि ये आम लोग हैं जिन्हें लगातार सामूहिक रूप से परिभाषित किया जाता है । इसलिए हम सांप्रदायिक कला और संस्कृति की पुनःकल्पना करते हैं जहां वे फिर से नए और साझा किए जा सकने वाले माध्यमों - (डिजिटल) प्रतीकों, पोस्टर, वीडियो, प्रकाशनों और सार्वजनिक परियोजनाओं और अभिव्यक्तियों के रूप में उपलब्ध हो, अध्ययन और अनुभव करने के लिए, बिना किसी शुल्क के । अंतरराष्ट्रीयता की कल्पना विकसित करने का यही हमारा लक्ष्य है । हमारी कला और संस्कृति को हमारी एकजुटता के रूप में व्यापक यात्रा करनी चाहिए, और इसका मतलब है कि हम अनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों पर वितरण में सार्वजनिक संस्कृति के उदार रूपों का समर्थन करेंगे ।

2. पीआई सदस्य और संबद्ध अभियानों का समर्थन करें

कला और संस्कृति, संघर्ष का हिस्सा हैं। परिवर्तन लाने के लिए हमें पहले परिवर्तन की कल्पना करनी चाहिए । इसलिए, सामाजिक न्याय और समानता के लिए लोकप्रिय आंदोलनों से जुड़े; गठबंधन, प्रेरित कलाकार और सांस्कृतिक कार्यकर्ता इन आंदोलनों की सफलता के लिए आवश्यक हैं । अंतरराष्ट्रवादी कला और संस्कृति, लोकप्रिय आंदोलनों की “सामूहिक रचनात्मकता” पर आधारित है और हम प्रगतिशील राजनीतिक दलों, यूनियनों, स्वदेशी संगठनों और सामाजिक आंदोलनों जो प्रग्रेसिव इंटरनेशनल का हिस्सा हैं या सहयोगियों हैं, को महत्वपूर्ण और ठोस कलात्मक और सांस्कृतिक योगदान करने का लक्ष्य रखते है ।

3.अंतरराष्ट्रवादी कला और संस्कृति की शिक्षण तकनीक का अन्वेषण करें

हम स्वदेशी लोगों के पुरातन सांस्कृतिक और कलात्मक इतिहास और राज्यविहीन राष्ट्रों की संस्कृति के लंबे इतिहास, विरोधी औपनिवेशिक और समाजवादी क्रांतियों, नागरिक अधिकारों और ब्लैक लिबरैशन, विरोधी नस्लवादी, कामकाजी वर्ग, नारीवादी, LGBTQIA +, शरणार्थी अधिकार, विकलांगता और पारिस्थितिक आंदोलनों में से सीखने और उसमे योगदान करने का लक्ष्य रखते हैं - नए, राष्ट्रवादी कला के बहुलवादी आख्यान बनाने के लिए । कला के यूरो केंद्रित प्रक्षेप-पथ से अलग, जो तथाकथित व्यक्तिगत ‘आधुनिक सफेद पुरुष प्रतिभा’ पर केंद्रित है, हम पारस्परिक शिक्षा और इन्टरसेक्शनल नैरेशन के शिक्षण तकनीक के साथ अन्वेषण और प्रयोग करना चाहते हैं।

4. सहयोगी प्रगतिशील सांप्रदायिक संस्थाएं

कई संग्रहालय, थिएटर और सांस्कृतिक केंद्र सरकारों और निगमों के सत्तावादी और नव-उदारवादी दबाव से पीड़ित हैं । हम मौजूदा संस्थानों के भीतर प्रगतिशील लोगों से आह्वान करते हैं कि वे अंतरराष्ट्रवादी कला और संस्कृति के निर्माण, परिसंचरण, अनुसंधान और शिक्षा का समर्थन करने के लिए हमारे साथ काम करें । इस काम के माध्यम से, हमारा उद्देश्य सांप्रदायिक स्वामित्व, शासन और देखभाल के तहत कला और संस्कृति के एक अंतरराष्ट्रवादी बुनियादी ढांचे को विकसित करना है।

5. सांस्कृतिक नस्लवाद, पितृसत्ता और फासीवाद को समाप्त करना

साम्राज्यवाद, उपनिवेशवाद, फासीवाद और उसके नस्लवादी और पितृसत्तात्मक आख्यान ने स्वदेशी, काले और रंग के लोगों, कामकाजी वर्ग, womxn, LGBTQIA + समुदाय, राज्यविहीन राष्ट्र, शरणार्थी और अप्रलेखित लोगों, और विकलांगों के सांस्कृतिक और कलात्मक योगदान को मिटाने का प्रयास किया है। हम सत्ता, औपनिवेशिक क्षतिपूर्ति, और कोटा के माध्यम से एक संरचनात्मक पुनर्वितरण के लिए बड़े पैमाने पर हमारे मंच और सांस्कृतिक संस्थानों में विच्छेदन; और फासीवादी विरोधी संघर्ष की परियोजना के लिए समान प्रतिनिधित्व और एजेंसी को लागू करने के लिए प्रतिबद्ध हैं । हम पश्चिमी कला के इतिहास के “निर्मित” वर्चस्व को अस्वीकार करते हैं, और कला और संस्कृति के बहुलवादी उपनिवेश-विरोधी और पूंजीवाद-विरोधी इतिहास की विरासत को स्वीकार करते हैं क्योंकि वे दुनिया भर के लोकप्रिय संघर्षों में स्वतः उभर आए हैं। हम किसी भी तरह के सत्तावादी प्रयोजनों के लिए कला के उपयोग का विरोध करते हैं ।

6. सांस्कृतिक कार्यकर्ताओं के अधिकारों की रक्षा

कला और संस्कृति मेहनत मांगते हैं । कलाकार और सांस्कृतिक कार्यकर्ता, सांस्कृतिक कॉमन्स में योगदान देते हैं और सामाजिक मूल्यों को उत्पन्न करते हैं । उनके काम को इसी तरह से पहचाना जाना चाहिए और इसके लिए भुगतान किया जाना चाहिए; कलाकार समाज के किसी भी अन्य सदस्य की तरह सामाजिक लाभ के हकदार हैं । हम सांस्कृतिक कार्यकर्ताओं के संगठनात्मक निकायों को अंतरराष्ट्रीयता मंच की कला में शामिल होने के लिए आमंत्रित करते हैं ताकि उन्हे उचित वेतन, सामाजिक सुरक्षा और सेवानिवृत्ति सहित अन्य मांगों के लिए एक आम मोर्चा बनाने में मदद मिले ।

7. सामाजिक आंदोलनों को बनाए रखें

हम कलाकारों और सांस्कृतिक कार्यकर्ताओं को आमंत्रित करते हैं की वे प्रग्रेसिव इंटरनेशनल और हमारे सहयोगियों का समर्थन करने के लिए योगदान करें । हम कला के लिए बाजार-मुक्त भविष्य का निर्माण करते हुए, तात्कालिकता की स्थितियों में, फंडरैज़र का आयोजन करेंगे जो मौजूदा संसाधनों को हमारे उद्देश्य और आदर्शों की ओर प्रवाहित करेंगे।

जिस तरह अंतरराष्ट्रवादी कला और संस्कृति विश्व के अतीत, वर्तमान और भविष्य की कल्पना को आकार देने में योगदान देती है, वैसे ही सिद्धांतों और प्रथाओं का यह पाठ लगातार बदलेगा क्योंकि आर्ट ऑफ इंटरनेशनलिस्म में कलाकारों और सांस्कृतिक कार्यकर्ताओं का समुदाय बढ़ता जाएगा। इसलिए इस पाठ पर फिर से गौर किया जाएगा और द्वि-वार्षिक आधार पर संशोधित किया जाएगा ।

---

Moussa Ag Assarid एक लेखक, कहानीकार, पत्रकार और ऐक्टिविस्ट है जिनका जन्म टिम्बकटू और गाओ के बीच सहारा में हुआ है। उन्होंने विभिन्न पुस्तकें लिखीं, जिनमें से एक चिल्ड्रन ऑफ द सैंड: ए टुअरेग स्कूल (2008) है । वे वर्तमान में उत्तरी अफ्रीका में सौर ऊर्जा संसाधन विकसित कर रहे हैं । एक राजनीतिक कार्यकर्ता के रूप में, एज असारिद, केल तमाशेक (तुआरेग), सोंघाई, फूला और अरब लोगों के गठबंधन के साथ सहारा और सहेल क्षेत्र (आजाद) में राजनीतिक अधिकारों को बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है।

Zdenka Badovinac एक क्यूरेटर और लेखक हैं । वे 1999 से 2020 तक जुब्लजाना में “मॉडरना गलेरिया” (MG+MSUM) की निदेशक रही हैं । उनकी सबसे नई किताब है “काम्रैडशिप: क्युरेटिंग, आर्ट एण्ड पॉलिटिक्स इन पोस्ट- स्ट्रक्चरल यूरोप (इनडिपेन्डन्ट क्युरेटर्स इंटरनेशनल (ICI), न्यू यॉर्क, 2019 । Badovinac संग्रहालय परिसंघ - ल' इंटरनेशनल की संस्थापक सदस्य हैं।

Libia Castro (स्पेन) और Ólafur Ólafsson (आइसलैंड) ने 1997 में एक साथ काम शुरू किया । वे रोटर्डम से हैं और रेक्जाविक और मलागा मे रह कर कार्य करते हैं । वे सहयोगी और बहुविषयक कलाकार हैं, जिनका अभ्यास अनौपचारिक, महत्वपूर्ण और सामाजिक-राजनीतिक विषयों पर केंद्रित है। वे कार्यकर्ता समूहों में शामिल हो गए हैं और अन्य कलाकारों, अन्य पेशेवरों और जीवन के सभी क्षेत्रों के लोगों को कला और सक्रियता के साथ मिलकर काम करने के लिए आमंत्रित करते हैं।

Chto Delat (वाट इस टू बी डन?) सेंट पीटर्सबर्ग में 2003 के शुरुआती महीनों में बना कलाकारों, आलोचकों, दार्शनिकों, और लेखकों का एक कलेक्टिव जिसका उद्देश्य राजनीतिक सिद्धांत, कला और सक्रियता का विलय है।

The Concerned Artists of the Philippines (CAP) फिलीपींस के कलाकारों और सांस्कृतिक कर्मियों का एक संगठन है जो अभिव्यक्ति की आजादी और लोगों के न्याय, राष्ट्रवाद और गंडतंत्र उन्मुख आंदोलनों को आगे बढ़ाने के लिए कार्य करते हैं । इसकी सह-स्थापना 1983 में लिनो ब्रोका, (नैशनल आर्टिस्ट फॉर सिनेमा) द्वारा की गई थी।

Disarming Design from Palestine, फिलिसतीन के समकालीन डिजाइन के विकास और प्रस्तुति के लिए एक थॉट-प्रवोकिंग मंच है, जो आक्यपैशन के अधीन जीवन के बारे में वैकल्पिक आख्यान का प्रसार करता है और रचनात्मक प्रथाओं जैसे प्रतिरोध और लचीलापन में निवेश करता है ।

Charles Esche एक क्यूरेटर और लेखक हैं, वे डिमाक्रसी इन यूरोप मूवमेंट (DiEM25) के सदस्य हैं और ईन्होवेन में वान अब्बेम्यूज़ियम के निदेशक भी हैं। वान अब्बेम्यूज़ियम, संग्रहालय परिसंघ ल 'इंटरनेशनल का सदस्य हैं।

Etcétera एक मल्टी-डिसप्लनेरी कलेक्टिव है हो 1997 में ब्यूनस आयर्स में बनाया गया है । 2005 में, अन्य कलाकारों और कार्यकर्ताओं के साथ, वे इंटरनेशनल एररोरिस्ट मूवमेंट की नींव का हिस्सा थे, जो एक संगठन है जो “त्रुटि” को जीवन के दर्शन के रूप मानता है।

iLiana Fokianaki एथेंस और रॉटरडैम में स्थित एक लेखक और क्यूरेटर हैं। 2013 में उन्होंने एथेंस में पहली गैर-लाभकारी समकालीन कला संस्था स्टेट ऑफ कान्सेप्ट की स्थापना की जो ग्रीक और अंतरराष्ट्रीय कलाकारों और सांस्कृतिक कार्यकर्ताओं को सामाजिक और राजनीतिक अभ्यास के लिए प्रोत्साहित करता है।

Varsha Gandikota-Nellutla हैदराबाद, भारत की नारीवादी कार्यकर्ता हैं । वह ब्लूप्रिंट की समन्वयक और प्रोग्रेसिव इंटरनेशनल में कैबिनेट की सदस्य हैं ।

Pawel Wargan प्रोग्रेसिव इंटरनेशनल के सचिवालय के समन्वयक हैं, जो संगठन की दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों को करने के लिए जिम्मेदार है। मूल रूप से ग्दान्स्क, पोलैंड से, वह अब बर्लिन, जर्मनी और मॉस्को, रूस के बीच स्थित है।

Quinsy Gario कैरेबियन द्वीपों के डच उपनिवेश वाले हिस्से से एक विसुअल और परफॉरमेंस आर्टिस्ट है । उनकी कला विच्छेदन की याद और कार्रवाई पर केंद्रित है । उनका सबसे प्रसिद्ध काम, ज़वार्टे पिट इस रैसिज़म (2011-2012) है, इसमे उन्होंने नस्लवादी डच फिगर “ज्वार्टे पिट” (ब्लैक पीट) के अभ्यास के आसपास के सामान्य ज्ञान की आलोचना की।

Paul Goodwin लंदन में स्थित एक क्यूरेटर, शोधकर्ता और शहरी सिद्धांतकार हैं । गुडविन के अनुसंधान और क्यूरेटर के रूप में उनकी रुचि अफ्रीकी प्रवासी कला और दृश्य संस्कृतियों पर केंद्रित होने के साथ अंतरराष्ट्रीय कला, शहरीकरण और क्यूरेटर अभ्यास के क्षेत्रों में फैले हुए हैं। प्रोफेसर गुडविन, कॉनटेंपोररी आर्ट एण्ड अर्बनिस्म के अध्यक्ष और यूनिवर्सिटी ऑफ आर्ट्स लंदन में TrAIN (ट्रांसनैशनल आर्ट, आइडेंटिटी एण्ड नैशन) अनुसंधान केंद्र के निदेशक हैं ।

Diyar Hesso स्वायत्त रोजावा क्षेत्र, पश्चिम-कुर्दिस्तान (उत्तर-सीरिया) में एक फिल्म निर्माता, शिक्षक, निर्माता, आयोजक, क्रांतिकारी फिल्म सिद्धांतकार और रोजवा फिल्म कम्यून के सह-संस्थापक हैं। वह द एन्ड विलबी स्पेक्टैक्यूलर (एरसिन अलिक, 2019) के निर्माता हैं और स्टोरीज़ ऑफ डेसटरोएड सिटीज़ (सीरो हीनडे, 2016) के डायरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी।

Maria Hlavajova, BAK की संस्थापक जनरल और आर्टिस्टिक डायरेक्टर, बैसिस वूर एक्ट्यूले कुन्स्ट, उट्रेच, 2000 से। 2008–2016 में वह FORMER WEST की रिसर्च और आर्टिस्टिक डायरेक्टर थीं। Hlavajova ने BAK और उससे आगे कई परियोजनाओं का आयोजन किया, जिसमें प्रोपोसिशनस फॉर नॉन-फ़ासिस्ट लिविंग (2017-अब तक), फ्यूचर वोकैबुलरीज (2014-2017), और न्यू वर्ल्ड एकेडमी 2013-2016) (कलाकार जोनास स्टाल के साथ) शामिल हैं ।

María Inés Plaza Lazo एक लेखक, कला समीक्षक और क्यूरेटर, आर्ट्स ऑफ द वर्किंग क्लास की संस्थापक और संपादक हैं। वह L'Union des Refusés, द होलोग्राम (कैसी थॉर्नटन, 2020) में स्थित एक नौकरशाही-विरोधी वैश्विक संगठन की संस्थापक हैं, जो कला की दुनिया को बदलने के लिए (कला) श्रमिकों को मदद करने के लिए ग्रीक सॉलिडैरिटी क्लीनिक में प्रेरित सामूहिक काम का एक इंटरचेंजिंग मॉडल है, जो कला को एक आपसी देखभाल प्रणाली के अधीन लाना चाहते हैं। वह बर्लिन और ग्वायाकिल, इक्वाडोर के बीच रहती और काम करती है।

Lisa Ito एक लेखक, क्यूरेटर और सांस्कृतिक कार्यकर्ता हैं। वह फिलीपींस में स्थित प्रगतिशील कलाकारों और सांस्कृतिक कार्यकर्ताओं के संगठन, फिलीपींस के चिंतित कलाकारों (सेक्रेटरी) के महासचिव हैं।

Komîna fîlm a Rojava (रोजावा फिल्म कम्यून) एक सांस्कृतिक संघ है जिसे रोजावा क्रांति की छतरी के नीचे, स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय फिल्मकारों द्वारा 2015 में स्थापित किया गया था। कम्यून फिल्में बनाता है और स्क्रीन करता है, स्थानीय फिल्मकारों का समर्थन करता है और इस क्षेत्र में सिनेमा की संस्कृति को वापस लाने के लिए नई प्रतिभाओं को ट्रेन करता है ।

Sven Lütticken एम्स्टर्डम में व्रीजे यूनिवर्सिटी में कला इतिहास और डच कला संस्थान में सिद्धांत सिखाते हैं। वह सीक्रेट पब्लिसिटी: एसेज़ ऑन कंटेम्परेरी आर्ट (2006), आइडल्स ऑफ़ द मार्केट: मॉडर्न आईकोनोक्लास्म एण्ड द फंडामेंटलिस्ट स्पेक्टकल (2009), हिस्ट्री इन मोशन: टाइम इन द ऐज ऑफ़ द मूविंग इमेज (2013) और कल्चरल रेवलूशन : एस्थेटिक प्रैक्टिस आफ्टर औटोनोमी (2017) के लेखक हैं ।

MARCH कला और रणनीति का एक अंतरराष्ट्रीय जर्नल है जिसे Sarrita Hunn और James McAnally ने स्थापित किया है और द ल्यूमिनरी (सेंट लुइस, एमओ यूएस) द्वारा प्रकाशित किया जाता है । MARCH हमारे समय के महत्वपूर्ण सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों को संबोधित करने के लिए प्रकाशन को विरोध के एक अधिनियम के रूप में गले लगाता है ।

Golrokh Nafisi एक इलस्ट्रेटर, एनिमेटर और कठपुतली निर्माता है जो सार्वजनिक प्रदर्शन के साथ प्रयोग करते है। Nafisi निकायों और विचारधाराओं के माध्यम से काम करते हैं तथा कल्पना और सामूहिक कार्रवाई के नए कार्य रूपों को आकार देते हैं।

Not An Alternative, 2004 में स्थापित, एक सामूहिक और गैर-लाभ संगठन है जो कला, सक्रियता और सिद्धांत के चौराहे पर काम करता है । यह घटनाओं, प्रतीकों, संस्थानों, और इतिहास की लोकप्रिय समझ को प्रभावित करने के लिए एक मिशन है । महत्वपूर्ण अनुसंधान और डिजाइन के माध्यम से यह समूह मटीरीअल और इम-मटीरीअल अंतरिक्ष पर हस्तक्षेप करता है और कला, वास्तुकला, प्रदर्शनी डिजाइन और राजनीतिक आयोजन से उपकरणों को एक साथ लाता है।

Ahmet Öğüt एम्स्टर्डम और इस्तानबुल में रहते काम करते हैं। एक सामाजिक-सांस्कृतिक सृजक और ट्रांसवर्सल कलाकार के रूप में ओग्लूट लगातार कला की दुनिया के बाहर से सहयोगियों को आकृष्ट करते हैं, प्रवास से लेकर नागरिक अशांति तक जटिल सामाजिक मुद्दों से जूझने के अनूठे तरीके खोजते हैं।

Gabriel Silveira बार्सिलोना में स्थित ब्राजील के क्रिएटिव डायरेक्टर और राइटर हैं । वे Contra के संस्थापक हैं जो एक रणनीति संचालित रचनात्मक एजेंसी है जिसका लक्ष्य है सामाजिक और राजनीतिक आंदोलनों की मदद करना ।

Kuba Szreder एक इन्टरडिपेन्डन्ट क्यूरेटर, लेखक, और व्याख्याता हैं जो वारसॉ में रहते हैं, पोस्टआर्टिस्ट के संघों के साथ सहयोग करते हैं, और कला श्रमिकों के संघर्ष में संलग्न है ।

Jonas Staal रॉटरडैम और एथेंस में आधारित एक कलाकार हैं जिसका काम कला, लोकतंत्र और प्रचार के संबंधों पर आधारित है। वह न्यू वर्ल्ड ऑर्डर समिट के संस्थापक हैं और विभिन्न राजनीतिक संगठनों जैसे DiEM25 और स्वायत्त रोजावा सरकार के साथ काम करते हैं ।

पोलैंड में The Anti-Fascist Year (फासीवादी विरोधी वर्ष) सार्वजनिक संस्थाओं, गैर सरकारी संगठनों, सामाजिक आंदोलनों, कला कलेक्ट्रेट, व्यक्तिगत कलाकारों और कार्यकर्ताओं के गठबंधन द्वारा प्रचारित एक देश व्यापी पहल है । इसका लक्ष्य है फासीवाद विरोधी सभी कार्यकर्ताओं, पुरुषों और महिलाओं को एक साथ लाने का है, जिन्होंने अतीत में सक्रिय रूप से फासीवाद का विरोध किया था, और नव-फासीवादी और नव-नाजी आंदोलनों के साथ-साथ फासीवादी विचारों, प्रवचन और प्रथाओं की पुष्टि करने और पूजन करने वाले किसी भी दल का सार्वजनिक रूप से बार-बार विरोध करना है ।

We Sell Reality (हम वास्तविकता बेचते है) एक ओपन-सोर्स अप्रलेखित और प्रलेखित सामाजिक डिजाइनरों के अपने उत्पादों, प्रतिष्ठानों और सार्वजनिक हस्तक्षेप को अप्रलेखित शरणार्थियों के जीवन में अंतर्दृष्टि प्रदान करने के उद्देश्य से बनाता है और अधर में लटके शरणार्थियों के रहने की स्थिति में सुधार करने के प्रयास में व्यावहारिक समाधान की तलाश करता है ।

What, How and for Whom (क्या, कैसे और किसके लिए) 1999 में गठित एक क्यूरेटर सामूहिक है और जागरेब और बर्लिन में आधारित है । इसके सदस्य Ivet Ćurlin, Ana Dević, Nataša Ilić और Sabina Sabolović, तथा डिजाइनर और प्रकाशक Dejan Kršić हैं।

Didem Pekün अनुसंधान और अभ्यास को जोड़ती है। अपनी निबंध फिल्मों में, वह संबोधित करती हैं कि हिंसा और विस्थापन कैसे जीवन को परिभाषित और नष्ट करते हैं। सेंटर ऑफ स्पैटियल जस्टिस (एमएडी), इस्तांबुल के एक संस्थापक सदस्य, वह गोल्डस्मिथ से दृश्य संस्कृतियों में पीएचडी रखती है, और वर्तमान में कला और विज्ञान @ यूडीके, बर्लिन में ग्रेजुएट स्कूल।

Help us build the Wire

The Wire is the only planetary network of progressive publications and grassroots perspectives.

Since our launch in May 2020, the Wire has amplified over 100 articles from leading progressive publications around the world, translating each into at least six languages — bringing the struggles of the indigenous peoples of the Amazon, Palestinians in Gaza, feminists in Senegal, and more to a global audience.

With over 150 translators and a growing editorial team, we rely on our contributors to keep spreading these stories from grassroots struggles and to be a wire service for the world's progressive forces.

Help us build this mission. Donate to the Wire.

Support
Available in
EnglishSpanishArabicFrenchHindiPortuguese (Brazil)GermanItalian (Standard)TurkishBengali
Translator
Surya Kant Singh
Date
18.03.2021

More in Announcements

Announcements

Announcing the Covid-19 Response Collective

Receive the Progressive International briefing
Privacy PolicyManage CookiesContribution Settings
Site and identity: Common Knowledge & Robbie Blundell